"मचान" ख्वाबो और खयालों का ठौर ठिकाना..................© सर्वाधिकार सुरक्षित 2010-2013....कुमार संतोष

रविवार, 17 अक्तूबर 2010

"तुम"

"तुम" को तोडा मैंने जब भी
अक्षर मैंने दो पाया 
"तू" से तुम हो "म" से मैं हूँ
राज़ समझ मैं जब आया
तुम तो केवल तुम नहीं हो
मैं भी केवल मैं ही नहीं हूँ
या फिर कह लो हम ही हम हैं
फिर काहे की बात का गम हैं
तोड़ो मोड़ो शब्द बनाओ
"तू" से तुम्हारा "म" से मन है
कुछ शीतल है कुछ चन्दन हैं
कुछ शीतलता मुझको दे दो
मैं भी कुछ चन्दन हो जाऊँ

और कभी फिर निश्चल भाव से तुमको पाऊँ
"म" से मेरा "तू" से तुम्हारा
जो मेरा वो सब है तुम्हारा
हमारा कह ले जब हम ही हम हैं
फिर काहे की बात का गम हैं
तोड़ो मोड़ो शब्द बनाओ
"तू" से तुम हो "म" से मैं हूँ  !!

10 टिप्‍पणियां:

  1. वाह क्या बात कही है……………बेहद उम्दा व्याख्या।
    विजयदशमी की हार्दिक शुभकामनाये
    आपकी रचनात्मक ,खूबसूरत और भावमयी
    प्रस्तुति कल के चर्चा मंच का आकर्षण बनी है
    कल (18/10/2010) के चर्चा मंच पर अपनी पोस्ट
    देखियेगा और अपने विचारों से चर्चामंच पर आकर
    अवगत कराइयेगा।
    http://charchamanch.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  2. वन्दना जी बहुत बहुत शुक्रिया मेरी रचना को चर्चा मंच पर शामिल करने के लिए !
    आपको और आपके समस्त परिवार को विजयदशमी की हार्दिक शुभकामनाएं !

    उत्तर देंहटाएं
  3. "तुम" को तोडा मैंने जब भी
    अक्षर मैंने दो पाया
    "तू" से तुम हो "म" से मैं हूँ
    राज़ समझ मैं जब आया
    ये लाइन पढ़ कर तो बरबस ही चेहरे पर मुस्कुराहट आ गई.
    बहुत सुंदर और उत्तम भाव लिए हुए.... खूबसूरत रचना......
    आपके समस्त परिवार को विजयदशमी की हार्दिक शुभकामनाएं !

    उत्तर देंहटाएं
  4. WAH!
    BAHUT HIN SUNDAR RACHNA..SHABDON KA BEJOD MEL AUR EKDUM SACHCHI BAAT KA BAHAR AANA..
    "तू" से तुम्हारा "म" से मन है
    कुछ शीतल है कुछ चन्दन हैं
    कुछ शीतलता मुझको दे दो
    मैं भी कुछ चन्दन हो जाऊँ

    UMDA LEKHAN BADHAI.

    उत्तर देंहटाएं
  5. संजय जी, अरशद जी आपका बहुत बहुत शुक्रिया

    उत्तर देंहटाएं
  6. अति-सुन्दर.....मैं मैं न रहूं तू तू न रहे...वाह!

    उत्तर देंहटाएं
  7. अति-सुन्दर, मैं मैं न रहूं तू तू न रहे--वाह!!!

    उत्तर देंहटाएं
  8. Wah! Ye bhee khoob hee likha hai! Badee anoothee wyakhya kar dalee,'tu' aur 'mai' kee!

    उत्तर देंहटाएं
  9. श्याम गुप्ता जी, रचना दीक्षित जी, kshama जी आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद !

    उत्तर देंहटाएं

आपकी प्रतिक्रिया बहुमूल्य है !

Related Posts with Thumbnails